उत्तराखंड

जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में हुई ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में मुख्यमंत्री की महत्वाकांशी परियोजना ग्रोथ सेन्टर,जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित

देहरादून। 23 सितम्बर 2020 को जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में  मुख्यमंत्री की महत्वाकांशी परियोजना ग्रोथ सेन्टर,जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित की गई।

बैठक में आईएलएसपी की ओर से एग्री बिजनेस ग्रोथ सेन्टर कालसी, एसआरएलएम की ओर से एलईडी ग्रोथ सेन्टर थानों, आईटीडीए की ओर से आईटी आधारित ग्रोथ सेन्टर ऋषिकेश, डेयरी विभाग की ओर से डेयरी ग्रोथ सेन्टर लाखामण्डल तथा जलागम विभाग द्वारा एग्री बिजनेस ग्रोथ सेन्टर थानों एवं पुनाह पोखरी एग्री बिजनेस ग्रोथ सेन्टरों द्वारा अभी तक किये गये कार्यों पर समीक्षा की गई।

बैठक में जिलाधिकारी ने प्रत्येक ग्रोथ सेन्टर का रिटर्न आॅन इन्वेस्ट किये जाने के निर्देश सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को दिये। साथ ही ग्रोथ सेन्टरों की अद्यतन प्रगति के सम्बन्ध में आवश्यक विचार विमर्श किया गया। उन्होंने क्वालिटी कन्ट्रोल को लेकर भी आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इन ग्रोथ सेन्टरों के माध्यम से प्रत्येक गांव एवं घर को जोड़ा जाना आवश्यक है। उन्होंने एग्री बिजनेस ग्रोथ सेन्टरों को बाजार व्यवस्था तथा गुणवत्ता परक उत्पादन पर विशेष ध्यान दिये जाने को कहा।

एसआरएलएम की ओर से एलईडी निर्माण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने परियोजना निदेशक से कहा कि दीवाली पर्व पर अधिकाधिक विद्युत लड़ियों का उत्पादन कर उसके बाजार विपणन व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए कामगारों की आर्थिकी बढाने का प्रयास करें। आईटीडीए के अधिकारी को निर्देशित किया कि वे पढे लिखे नौजवानों को आईटी क्षेत्र में वृहद प्रशिक्षण देकर लाभान्वित करें। डेयरी विकास को डाॅग फूड छिरपी का बहुयातत में उत्पाद करने के साथ ही काश्तकारों को लाभान्वित किये जाने की बात कही।

उन्होंने जलागम द्वारा चलाये जा रहे एग्री बिजनेस ग्रोथ सेन्टरों के माध्यम से विभिन्न प्रकार के उत्पादों, जिनमें मंडुवा, मक्का, झिंगोरा, हल्दी, पल्लर, अचार आदि में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुए उत्पादों को बाजार तक पंहुचाने का भरसक प्रयास को कहा।

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि ग्रोथ सेन्टरों को समूहों के साथ जोड़ने, वैल्यू चैन को सुदृढ करने तथा उत्पादित सामग्री को बाजार तक पंहुचा कर लाभार्थियों की आर्थिकी बढाने का भी प्रयास करें।

उन्होंने सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को ग्रोथ सेन्टरों के लिए अगली बैठक में प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये। योजना के संचालन हेतु जनपद स्तर पर महाप्रबन्धक उद्योग जिला उद्योग केन्द्र को नोडल अधिकारी नामित किया गया। बैठक में जिलाधिकारी ने कृषि, उद्यान, पर्यटन,मत्स्य व उद्योग विभागों को नये ग्रोथ सेन्टर के प्रस्ताव तैयार करने को कहा। उन्होंने सभी संचालित ग्रोथ सेन्टरों के क्रियाकलापों की वीडियो तथा फोटोग्राफ्स तैयार करने के भी निर्देश दिये।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, मुख्य कृषि अधिकारी विजय देवराड़ी, आईटीडीए ऋषिकेश के एस.के विश्नोई, सहायक निदेशक डेयरी नरेन्द्र सिंह, उप निदेशक जलागम डाॅ एस.के सिंह, परियोजना निदेशक विक्रम सिंह, मुख्य उद्यान अधिकारी हेमलता पाण्डे तथा अनुश्रवण समिति के सदस्य/सचिव महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र शिखर सक्सेना समेत अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close